आम जनता को झटका! नए साल से कपड़े और जूते-चप्पल हो जाएंगे और महंगे, जानिए क्या है वजह

Whatsaap Strip

नए साल 2022 को आने में कुछ ही समय बचा है। ऐसे में सरकार ने आम नागरिकों को नए साल की शुरुआत के पहले ही बड़ा झटका दिया है।

बढ़ती महंगाई के बीच सरकार ने आम जनता को एक और झटका दिया है। नए साल से आपकों जूते-चप्पल और कपड़ों (Cloth-Shoes Price Hike) पर पहले से ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे।

इसे भी पढ़े:शादी समारोह में खाना खाने के बाद बिगड़ी 50 बारातियों की तबीयत, हॉस्पिटल में इलाज जारी

केंद्र सरकार ने इन सभी सामान पर GST को बढ़ा दिया है। इसका मतलबा है कि अब कपड़े और जूते-चप्पल (Cloth-Shoes) खरीदने के लिए आपको पैसे अधिक देने पड़ेंगे।

आने वाले साल से आपको कपड़े, जूते-चप्पल और टेक्सटाइल का सामान खरीदने के लिए पहले सोचना होगा क्योंकि इसमें आपको अब ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे।

इसे भी पढ़े:विशेष पिछड़ी जनजाति वर्ग के लोगों में प्रशासन के प्रति बहाल करना होगा विश्वास : सिंहदेव

दरअसल, पहले एक हजार रुपये तक की कीमत के कपड़े पर 5 फीसदी की दर से जीएसटी लगता था, लेकिन अब सभी पर 12 फीसदी की दर से ही जीएसटी लगाया जाएगा।

खबरों के अनुसार अब किसी भी कीमत के फैब्रिक पर 12 फीसदी की दर से ही जीएसटी लगेगा। सरकार पहले इन सामान पर 5 फीसदी की दर से जीएसटी लगाती थी, लेकिन अब इसे बढ़ाकर 12 फीसदी किया जा चुका है। कहा जा रहा है जीएसटी की नई दरें जनवरी 2022 से लागू हो जाएंगी।

इसे भी पढ़े:ट्यूशन छात्र की मौत, कार चालक की लापरवाही से आया DSP की गाड़ी की चपेट में

नए साल में कौन कौन सी वस्तु होगी महंगी?

इसी के साथ धागों पर भी 12 फीसदी की दर से ही जीएसटी लगेगा, जिससे कपड़े महंगे होने वाले हैं। इसी के साथ बुने धागे, सिंथेटिक धागे, थान, कंबल, टेंट, टेबल क्लॉथ, रग्स, तौलिया, नैपकिन, रूमाल, कालीन, गलीचा, लोई सभी पर 12 फीसदी की दर ही लागू होगी। वहीं, फुटवेयर पर जीएसटी के रेट्स को बढ़ाया जा चुका है।

सेंट्रल बोर्ड ऑफ इन डायरेक्ट टैक्स (CBIT) ने अधिसूचना जारी कर इस बारे में जानकारी दी है। वैसे बीते काफी समय से यह संभावना जताई जा रही थी कि सरकार रेडीमेड और टेक्सटाइल पर जीएसटी बढ़ा सकती है और अब अधिसूचना भी जारी कर दी गई है।

Related Articles