Trending

1 अक्टूबर से होंगे ये बड़े बदलाव, सीधा जेब पर पड़ेगा असर

Whatsaap Strip

1 October Ko Badlaow: सितंबर महीने के आखिरी तक कई जरूरी काम है, जिसे तुरंत पूरा कर लें नहीं तो आपको परेशान होना पड़ सकता है। क्योंकि 1 अक्टूबर से देश में कई बड़े बदलाव होने वाले हैं, जिसका असर सीधा आपकी जेब पर पड़ेगा। अगले महीने से इनकम टैक्स देने वाले अटल पेंशन स्कीम में निवेश नहीं कर सकेंगे। इसके अलावा 1 अक्टूबर से कार्ड पेमेंट के लिए टोकनाइजेशन सिस्टम लागू हो जाएगा। दरअसल, 1 अक्टूबर से इनकम टैक्स का भुगतान करने वाले अटल पेंशन योजना का लाभ नहीं ले सकेंगे। मौजूदा नियम के अनुसार 18 साल से 40 साल तक की उम्र का कोई भी भारतीय नागरिक सरकार की इस पेंशन योजना से जुड़ सकता है, भले ही वह इनकम टैक्स भरता हो या नहीं। इस योजना के तहत हर महीने 5 हजार रुपए तक की मासिक पेंशन दी जाती है।

यह भी पढ़ें:- अक्टूबर में भी बैंककर्मियों की बल्ले-बल्ले, महीने में 21 दिन नहीं होगा काम

वहीं 1 अक्टूबर से ही कार्ड पेमेंट के लिए टोकनाइजेशन सिस्टम लागू हो जाएगा। इसके लागू होने के बाद मर्चेंट, पेमेंट एग्रीगेटर और पेमेंट गेटवे ग्राहकों की कार्ड से जुड़ी जानकारी को स्टोर नहीं कर सकेंगे। टोकनाइजेशन सिस्टम लागू करने का उद्देश्य ऑनलाइन बैंकिंग फ्रॉड को रोकना है। टोकनाइजेशन अनिवार्य नहीं है, लेकिन यह एक ही वेबसाइट या ऐप से बार-बार खरीदारी को आसान बनाता है। 1 अक्टूबर या उसके बाद म्यूचुअल फंड में निवेश करने वाले लोगों के लिए नॉमिनेशन डिटेल देना जरूरी होगा। ऐसा नहीं करने वाले निवेशकों को एक डिक्लेरेशन भरना होगा। (1 October Ko Badlaow)

नॉमिनेशन की सुविधा नहीं लेने की घोषणा

डिक्लेरेशन में नॉमिनेशन की सुविधा नहीं लेने की घोषणा करनी होगी। एसेट मैनेजमेंट कंपनियों को निवेशक की जरूरतों के अनुसार फिजिकल या ऑनलाइन मोड में नॉमिनेशन फॉर्म या डिक्लेरेशन फॉर्म का विकल्प देना होगा। फिजिकल विकल्प के तहत फॉर्म में निवेशक के सिग्नेचर होंगे, जबकि ऑनलाइन फॉर्म में निवेशक ई-साइन फैसिलिटी का इस्तेमाल कर पाएंगे। RBI के रेपो रेट बढ़ाने के बाद देश के ज्यादातर बैंकों ने FD पर मिलने वाले ब्याज में बढ़ोतरी की है। ऐसे में अब पोस्ट ऑफिस स्मॉल सेविंग्स स्कीम जैसे PPF, सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम, सुकन्या समृद्धि योजना में मिलने वाले ब्याज की दरों में इजाफा हो सकता है। (1 October Ko Badlaow)

सेविंग्स स्कीम्स पर 30 सितंबर को नई ब्याज दरों का ऐलान संभव

इधर, पोस्ट ऑफिस की स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स पर 30 सितंबर को नई ब्याज दरों का ऐलान हो सकता है। डीमैट अकाउंट होल्डर्स को 30 सितंबर 2022 तक टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन पूरा करना है। इसके बाद ही आप अपने डीमैट अकाउंट में लॉग-इन कर पाएंगे। अगर आप ऐसा नहीं करने हैं तो 1 अक्टूबर से आप डीमैट अकाउंट लॉग-इन नहीं कर सकेंगे। NSE के अनुसार मेंबर्स को अपनी डीमैट अकाउंट में लॉन-इन करने के लिए एक ऑथन्टेकेशन फैक्टर के रूप में बायोमीट्रिक ऑथन्टेकेशन का इस्तेमाल करना होगा। (1 October Ko Badlaow)

गैंस के दामों में बदलाव

दूसरा ऑथन्टेकेशन एक ‘नॉलेज फैक्टर’ हो सकता है। यह पासवर्ड, पिन या कोई पॉजेशन फैक्टर हो सकता है, जिसकी जानकारी सिर्फ यूजर को होती है। हर महीने की 1 तारीख को LPG गैस सिलेंडर की कीमतों की समीक्षा की जाती है। ऐसे में कच्चा तेल और नेचुरल गैस की कीमतों में नरमी के कारण इस बार घरेलू और कॉमर्श‍ियल दोनों तरह के गैस सिलेंडर की कीमतें कम होने की उम्मीद है। बता दें कि हर महीने कोई न कोई बदलाव किया जाता है। कई नियमों को बदला जाता है। साथ ही गैस की कीमतों में भी बदलाव देखने को मिलता है। (1 October Ko Badlaow)

Related Articles