आपकी राशी के लिए 01-04 नवम्बर तककामना पूरक एवं संकतों से सुरक्षा के शुभ काल मुहूर्त

Whatsaap Strip

01 नवम्बर 2021

गोवत्स द्वादशी पूजा मुहूर्त 04:47 से 05:31 ब्रह्म मुहूर्त 

A – 05 : 11 से 06:24 प्रातः

– मिथुन , कर्क , कन्या , वृश्चिक , मीन राशी के लिए भविष्य में आने वाले विघ्न बाधा , संकट से सुरक्षा का समय।

– मेष , वृष , सिंह , तुला , धनु , मकर , राशी के लिए शीघ्र फलदायी एवं सर्व मनोकामना पूरक समय।

B – 11 : 44 से 12-23- अभिजित

– वृष , मिथुन , कन्या , तुला , धनु , कुम्भ राशी के लिए भविष्य में आने वाले विघ्न , बाधा , संकट से सुरक्षा का समय।

– मेष , वृष , सिंह , तुला , धनु , मकर , राशी के लिए शीघ्र फलदायी एवं सर्व मनोकामना पूरक समय।

C01 : 59 से 02 : 41- विजय

– कर्क , मीन , वृश्चिक , कन्या कुम्भ राशी के लिए अतिविशेष उपयोगी है ,भविष्य सुरक्षा।

– मेष , वृष , तुला , कन्या , मिथुन , सर्वकामना पूरक पूजा समय।

D – 06 : 34 से 05 : 51- गोधूलि

– मिथुन , कर्क , कन्या वृश्चिक , मीन राशी के लिए भविष्य में आने वाले विघ्न बाधा , संकट से सुरक्षा का समय।

– मेष , वृष , सिंह , तुला , धनु , मकर राशी के लिए शीघ्र फलदायी एवं सर्व मनोकामना पूरक समय। 11:41 से 12:28 निशीथ कालीन।

– मेष , मिथुन , वृश्चिक , धनु , मीन राशी के लिए भविष्य में आने वाले विघ्न बाधा संकट से सुरक्षा का समय।

– वृष कर्क , कन्या , तुला , मकर कुम्भ राशी के लिए शीघ्र फलदायी एवं सर्व मनोकामना पूरक समय धनतेरस पूजा मंगलवार ।

02 नवम्बर 2021 

संध्या से रात्रिकालीन शुभ समय धनतेरस पूजा मुहूर्त

06:31 से 08:10 यम दीपम मंगलवार , नवम्बर 2 2021 को प्रदोष काल 05:43 से 08 : 11

– तुला , मिथुन , मीन , कर्क राशी के लिए अतिउपयोगी है भविष्य सुरक्षा ।

– कर्क , सिंह , धनु , वृश्चिक , मीन , वृषभ सर्वकामना पूरक पूजा समय 06:30 से 08:10 06:19 से 08:11 06:52 से 08:36 06:16 से 08:10 वृषभ काल 06:27 से 08-21।

– तुला , मिथुन , मीन . कर्क राशी के लिए भविष्य में आने वाले विघ्न , बाधा , संकट से सुरक्षा का समय ।

– कर्क , सिंह , धनु , वृश्चिक , मीन , वृषभ सर्वकामना पूरक पूजा समय भारत के शहरों में धन त्रयोदशी मुहूर्त संध्या से रात्रिकालीन शुभ समय 27-1814 भोपाल । 06:47 से 08:30 पुणे | 06:19 से 08:10 नई दिल्ली चेन्नई । 06:27 से 08:18 जयपुर । 06:31 से 08:14 हैदराबाद । गुरुग्राम । 06:15 से 08:09 चण्डीगढ़ । 05:44 से 07:31 कोलकाता । मुम्बई 06:42 से 08:21 बेंगलूरु 06:46 से 08-34 अहमदाबाद । नोएडा

इसे भी पढ़े:धनतेरस मंगलवार 2 नवम्बर 2021 : भगवान विष्णु के बारहवें अवतार धन्वन्तरी, धनतेरस पर क्या खरीदने की हैं परंपरा, पढ़ें पूरी कथा

03 नवम्बर 2021

कलि चौदश हनुमान पूजा एवं शिव पूजा

रात्रिकालीन शुभ समय काली पूजा बृहस्पतिवार ।

04 नवम्बर 2021

काली पूजा निशिता काल- 11:41 से 12:26 नवम्ब तमिल दीपावली लक्ष्मी पूजा , दीवाली केदार गौरी व्रत शारदा पूजा , दीवाली देव पूजा का शुभ समय परिवार के प्रमुख धन उपार्जन ( कमाने ) कर्ता के लिए शुभ समय चोपड़ा पूजा।

विवरण

– किस राशी के लिए विशेष विघ्न बाधा , संकट से सुरक्षा हेतु उपयोगी पूजा समय ।

ब- किस राशी के लिए शीघ्र फलदायी एवं सर्व मनोकामना पूरक समय ।

1 वृश्चिक लग्न ( प्रातः ) 07:31 से 09 : 37

अ- ( मेष , सिंह , धनु राशी के लिए विशेष अतिउपयोगी है । भविष्य सुरक्षा ।

ब- वृष , मिथुन , धनु , कन्या , मकर , कुम्भ , वृश्चिक राशी के लिए सर्वकामना पूरक ।

2- कुम्भ लग्न ( अपराह्न ) 01:39 से 03:01

अ- कर्क , मीन , वृश्चिक , कन्या , कुम्भ राशी के लिए अतिविशेष उपयोगी है ।

इसे भी पढ़े:अनमोल चिंतन 1 नवम्बर 2021 : निंदा से विचलित न हों, हर व्यक्ति का होता हैं अपना-अपना दृष्टिकोण एवं स्वभाव

भविष्य सुरक्षाब – मेष , वृष , तुला , कन्या , मिथुन , सर्वकामना पूरक पूजा समय 3- वृषभ लग्न ( सन्ध्या ) 06:21 से 08 : 10

अ- तुला , मिथुन , मीन , कर्क राशी के लिए अतिउपयोगी है भविष्य सुरक्षा।

 ब- कर्क , सिंह , धनु , वृश्चिक , मीन , वृषभ सर्वकामना पूरक पूजा समय 4 सिंह लग्न मध्यरात्रि ) 12:49 से 02:41 ,( अंग्रेजी नवम्बर 05 )

अ- मकर , कर्क , वृष , कन्या के लिए अतिउपयोगी है , भविष्य सुरक्षा।

ब- मिथुन वृश्चिक , तुला , कुम्भ , मीन राशी के लिए सर्वकामना पूरक समय।

Related Articles