Bihar CM Resignation: बिहार के CM ने दिया इस्तीफा, जानिए क्या है वजह

Whatsaap Strip

Bihar CM Resignation: बिहार की सियासत में भूचाल आ गया है। दरअसल, BJP और जदयू का गठबंधन टूट गया है। वहीं CM नीतीश ने राज्यपाल फागू चौहान को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। इस्तीफा देने के बाद नीतीश राबड़ी देवी के आवास पर पहुंचे। वहीं इससे पहले जेडीयू की आज हुई बैठक में पार्टी के सभी विधायकों और सांसदों ने सीएम नीतीश कुमार के फैसले का समर्थन किया और कहा कि वे उनके साथ हैं। इधर, लोजपा नेता और रामविलास के बेटे चिराग पासवान ने कहा कि आज नीतीश कुमार की साख शून्य हो गई है। हम चाहते हैं कि बिहार में राष्ट्रपति शासन लागू हो और राज्य को नए सिरे से जनादेश देना चाहिए। नीतीश कुमार का कोई विचारधारा है या नहीं? अगले चुनाव में जदयू को शून्य सीटें मिलेगी। (Bihar CM Resignation)

यह भी पढ़ें:- BJP President Arun Sao: अरुण साव बने छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष

राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपने के बाद नीतीश कुमार ने कहा कि हमारे सभी सांसदों और विधायकों के बीच इस बात पर आम सहमति पर है कि हमें एनडीए छोड़ देना चाहिए। वहीं केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने कहा कि राजद का 15 साल का शासन राज्य को पीछे ले गया था, CM नीतीश कुमार ने भी कई बार ऐसा कहा। वह राजद के साथ गठबंधन में जाने को कैसे जायज ठहराएंगे, जिसे उन्होंने भ्रष्ट बताया है? यह सब सत्ता के लिए राजनीति है, इसमें कोई नैतिकता नहीं है और उन्हें शर्म आनी चाहिए। बिहार में JDU और BJP के बीच गठबंधन 5 साल बाद फिर टूटा है। बता दें कि CM नीतीश कुमार ने मंगलवार शाम 4 बजे राज्यपाल फागू चौहान को अपना इस्तीफा सौंप दिया। नीतीश ने तुरंत ही नई सरकार बनाने का दावा भी पेश कर दिया। उन्होंने राज्यपाल को 160 विधायकों के समर्थन की चिट्ठी सौंपी। (Bihar CM Resignation)

राजभवन में ही नीतीश ने किया  गठबंधन टूटने का ऐलान

राजभवन में ही नीतीश ने भाजपा से गठबंधन टूटने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि पार्टी के विधायकों और सांसदों ने एक स्वर में NDA से गठबंधन तोड़ने की बात कही है। इसके बाद नीतीश सीधे राबड़ी देवी के घर पहुंचे, जहां तेजस्वी यादव से उनकी मीटिंग हुई। इधर, जीतन राम मांझी की पार्टी HAM ने भी नीतीश को समर्थन का ऐलान कर दिया है। उनके पास 4 विधायक हैं। ऐसे में नीतीश के पास अब 164 विधायकों का समर्थन है। कांग्रेस विधायक शकील अहमद खान ने कहा है कि नीतीश कुमार ही महागठबंधन के मुख्यमंत्री होंगे। सब कुछ तय हो गया है। सूत्रों के मुताबिक तेजस्वी यादव डिप्टी CM होंगे। कांग्रेस को स्पीकर की कुर्सी मिल सकती है। गठबंधन टूटने के बाद नीतीश कुमार अब फ्लोर टेस्ट कराने की तैयारी में हैं। सूत्रों के मुताबिक जदयू के सभी विधायकों को अगले 72 घंटों तक पटना में रहने का निर्देश दिया गया है। JDU के पास बिहार विधानसभा में 45 विधायक हैं। इधर, महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन के बाद से बिहार की राजनीति ने देश का माहौल फिर बदल दिया है। (Bihar CM Resignation)