Trending

राशिफल 21 सितम्बर 2021 : मंगलवार को कैसा रहेगा आपका दिन, क्या कहती हैं आपकी राशि, जानें अपना राशिफल

Whatsaap Strip

आज का राशिफल : 21 सितम्बर 2021, दिन-मंगलवार। तिथि-प्रतिपदा। नक्षत्र – उत्तराभाद्र। चन्द्र राशी – मीन। व्रतश्राद्ध प्रतिपदा। कार्य सिद्धसफल योग—सूर्योदय से 06:16  बजे से। महिष वाहन– वर्षा योग प्रबल। भद्रा-17:23 बजे तक, भूमि-अशुभ। पंचक-दिन रात। राशिफल – मीन, मेष राशि – सर्व सफलता पूर्ण दिन। मिथुन, तुला – सुख बाधक दिन। 

आज का राशिफल (21 सितम्बर 2021)

मेष राशि (Aries) – चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ.

आर्थिक दृष्टि से यह समय कठिनाइयों से परिपूर्ण है। खर्चे बढ़ेंगे। अपनी धन सम्पदा का ध्यान रखें। अपव्यय से बचें। अपने द्वारा किए जा रहे व्यवहार के प्रति विशेष सचेत रहें। आपको मनवांछित फल न मिलना संभव है। स्वास्थ्य की ओर ध्यान देने की आवश्यकता है। आँखों में कोई संक्रमण हो सकता है अत: आँखों का विशेष ध्यान रखें। मानसिक रुप से आप व्यथा व बैचेनी अनुभव कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : सुसाइड या मर्डर? : मठ में संदिग्ध हालत में मिली अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष की लाश

वृष राशि (Taurus) – ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो.

आपको अधिक धन उपार्जन व सम्पत्ति अर्जित करने में सहायक होगा। आपको अटकी हुई धनराशि भी प्राप्त हो सकती है। व्यक्तिगत रुप से यह दिन प्रसन्नता, सुख व परम प्रिय मित्रों के साथ आनन्ददायक है। परिवार के सदस्यों का मेल मिलाप व पुराने मित्रों के साथ एकत्रित होकर पुनर्मिलन के भी सुअवसर हैं। विवाहित व्यक्तियों के दाम्पत्य सुख की पूर्ण संभावना है। आप मानसिक रुप से प्रसन्न व शान्तचित्त रहेंगे। ग्रह सर्व सुख शांति सफलता देने के लिए तत्पर हैं। इस माह इतना अनुकूल समय न मिला है ओर न ही आपको शेष दिनो मे  मिलेगा। प्रत्येक कार्य आपके अनुकूल होगा।

मिथुन राशि (Gemini) – का, की, कू, घ, ड, छ, के, को, ह.

यह समय इच्छापूर्त्ति, लक्ष्यप्राप्ति तथा सांसारिक व भौतिक सुख प्राप्त करने का है। यदि आप कुछ नया करने की योजना बना रहे हैं तो उपयुक्त समय है। आप व आपका परिवार सामान्य रुप से सुखी रहेंगे। यह समय आपके कार्यस्थल के लिए भी शुभ है। आप सम्मान, पदोन्नति एवम् प्रशंसा की आशा कर सकते हैं। निर्धारित लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं। इस विशेष समय में आपकी सामाजिक प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी। माह की सर्वश्रेष्ठ अवधि का सर्वाधिक प्रयोग करिए। बिना समय का अपव्यय कर, अधिकतम उपयोग प्रयोग करिए। जिस कार्य को भी हाथ में लेंगे, उसकी पूर्णता सुनिश्चित समझिए। निर्णय या लंबित कार्य पूर्ण करने  के लिए एसा सर्वोत्तम समय दो दिन बाद नहीं मिलेगा।

कर्क राशि (Cancer) – ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो.

तुलनात्मक रूप से स्त्री वर्ग के लिए दिन अधिक व्यवधान पूर्ण रहेगा। अपने व्यापार अथवा कार्यालय में साधारण दिनों से अधिक परिश्रम करना पड़ सकता है। पेट की गड़बड़ अथवा छाती का कष्ट हो सकता है। स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें। आप किसी धार्मिक अनुष्ठान अथवा दान जैसा पुण्य कार्य सफलतापूर्वक करेंगे। आपको समाज में प्रसिद्धि भी मिलने की संभावना है। शत्रुओं पर विशेष नजर रखें क्योंकि उन्हीं के कारण हानि होने की संभावना है। भाग्य एवं संतान सुख बाधा, विघ्न बाधा, कष्ट, स्वागत करने को आतुर हें। अपनी भावनाओ पर नियंत्रण रखिए। आपके प्रयासो को सफलता के पंख लगने ही वाले हैं।

नए कार्य या उत्तरदायित्व लेने से बचना चाहिए

सिंह राशि (Leo) – मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे.

पारिवारिक सुख में कमी होगी। दांपत्य साथी की ओर से अनावश्यक परेशानियां पैदा की जाएंगी, वाद विवाद की स्थिति से बचें। कोई अपने दिए हुए प्रॉमिस को पूरा नहीं कर सकेगा। नए कार्य या उत्तरदायित्व लेने से बचना चाहिए। रोजगार में किसी भी प्रकार की जोखिम लेना उचित नहीं रहेगा। महत्वपूर्ण प्रपत्र या पत्र पर हस्ताक्षर से पहले सूक्ष्म अध्ययन करना, भविष्य उपयोगी सिद्ध होगा। संतान पक्ष की ओर से चिंता या दायित्व बढ़ेगा।

यह भी पढ़ें : श्राद्ध (पितर) पक्ष : जानिए कितने प्रकार के होते हैं श्राद्ध, उनका क्या हैं महत्व और विधि, पढ़ें पूरी ख़बर

कन्या राशि (Virgo) – टो, प, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो.

जीवन में सकारात्मक परिवर्तन होंगे। यह समय सुख व कार्यों में सफलता का द्योतक है। आर्थिक दृष्टि से भी यह समय आपके लिए शुभ है। आपको शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने में भी सहायक दिन है। नए मित्र, विशेषकर विपरीत लिंग वाले मित्र बनाने हेतु यह समय अनुकूल है। दाम्पत्य जीवन में सुख रहेगा और आपको अपने जीवनसाथी के साथ आमोद-प्रमोद के अवसर भी मिलेंगे। संतान आपके जीवन के सुख में और अधिक वृद्धि करेगी। दिन की इस अवधि में स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। आप स्वयं अपने आप में व परिवार के साथ शान्ति अनुभव करेंगे। इस दिन को कुल मिलाकर सुख से परिपूर्ण कहा जा सकता है।

तुला राशि (Libra) – रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते.

स्त्री वर्ग के लिए दिन बाधा एवं  व्यवधान पूर्ण रहेगा|यह समय आगे बढ़ कर लक्ष्य को पकड़ लेने का है आपकी सफलता के योग हैं। आप शत्रुओं पर विजय पाएँगे, नए मित्र भी बनाएँगे, विशेष रुप से विरीत लिंग वालों को।  स्वास्थ्य अच्छा रहेगा और आप नीरोग काया का आनन्द उठाएँगे। कुल मिलाकर इस अवधि में आप प्रसन्न रहेंगे। उदर कष्ट संभव है। रोजगार, व्यवसाय मे आशा के अनुरूप सफलता की प्रबल संभावनाएं है। शत्रु वर्ग के विरुद्ध सफलता का उत्तम अवसर है। विवादास्पद मामलों मे प्रयासो के सुपरिणाम अवश्य ही मिलेंगे।

वृश्चिक राशि (Scorpio) – तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू.

अपने कार्य इच्छानुसार पूरे न कर पाने के कारण, आप मानसिक रुप से अशांत रहेंगे। वित्तीय दृष्टि से भी अपके लिए ये कठिन समय है। आप कुछ रुपया गँवा सकते हैं। आपको हानि हो सकती है। धन व्यय करने पर नियंत्रण रखें। स्वास्थ्य की ओर सदा से अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है। पूर्ण मनोयोग से धैर्य, शांति एवं भावनाओं पर नियंत्रण रखिए। सक्रियता, विनियोजन, विपणन, लेनदेन, महत्वपूर्ण कार्य लंबित/स्थगित, रखना ही श्रेयष्कर होगा।

आत्मविश्वास मे कमी होगी

धनु राशि (Sagittarius) – ये, यो, भ, भी, भू, ध, फ, ढ, भे.

स्त्री वर्ग की तुलना मे पुरुष वर्ग के लिए दिन अधिक व्यवधान पूर्ण रहेगा|स्वयं का या परिवार के किसी सदस्य के स्वास्थ्य में गिरावट के योग हैं। रोग खर्च एवं कष्ट का कारण हो सकता है। आपके आत्मविश्वास मे कमी होगी। आर्थिक दृष्टि से यह कठिन समय है। खर्चे बढ़ सकते हैं। आप द्वारा हुई गलतियाँ सफलता या सुख को प्रभावित कर सकती हैं। धन सावधानी पूर्वक खर्च करें। आपको अपने आत्मीयजनों से मधुर सम्बन्ध बनाए रखने में सतर्कता बरतनी है। मतभेद या परस्पर शत्रुता पनप सकती है। क्रोध को अनियंत्रित न होने दे। पूर्ण मनोयोग से धैर्य, शांति एवं भावनाओं पर नियंत्रण समय की मांग है। सक्रियता, विनियोजन, विपणन, लेनदेन, महत्वपूर्ण कार्य लंबित/स्थगित, रखना ही श्रेयष्कर होगा।

यह भी पढ़ें : श्राद्ध पक्ष : पितर (श्राद्ध) पक्ष में वह आवश्यक बातें जो हमें हमेशा ध्यान रखना चाहिए, पढ़े पूरी जानकारी

मकर राशि (Capricorn) – भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, ग, गी.

यह समय धन की दृष्टि से भी सौभाग्यपूर्ण है। बकाया राशि की प्राप्ति, धन की प्राप्ति योग हैं। आज अपेक्षित आर्थिक लाभ की आप आशा कर सकते हैं। घर के लिए भी यह समय सुख से परिपूर्ण है। आपको अति उत्तम भोजन, वस्त्र  सुख मिल सकता है। आपके सम्पन्न किया गया हर कार्य आपको प्रसन्नता देगा। मन में पूर्ण संतोष का साम्राज्य रहेगा। मित्रों के साथ अच्छा समय व्यतीत होगा। विरोधियों एवं लंबित कार्य मे सफलता मिलेगी।

अपने व्यवहार के प्रति विशेष सतर्क रहें

कुंभ राशि (Aquarius)– गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, द.

पारिवारिक पक्ष के सुख मे कमी होगी। लोगों से अपने व्यवहार के प्रति विशेष सतर्क रहें। आप विवाद में न पड़ें। किसी को राय या सुझाव व्यर्थ में झगड़े का रुप ले सकता है। असावधानी पूर्ण व्यवहार ठेस पहुँचा सकता है। कार्यालय में बाधाएं आ सकती हैं। असंतोष अनुभव करेंगे। आँखों पर विशेष ध्यान दें व सतर्कता बरतें। आपको भोजन भी इतना रुचिकर नहीं लगेगा।

मीन राशि (Pisces) – दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची.

नए समाचार या प्रिय आत्मीय से मिलन,तथा सुखद स्थितियाँ आनंदित करेंगी। आपको, उत्तम वस्त्र तथा अन्य इच्छित सांसारिक वस्तुओं का सुख-साधन मिलेंगा। मित्र व परिचित निश्चित रुप से मिलेंगे। प्रेम या मित्रता सुख का भी सुयोग है। शारीरिक एवम् भावनात्मक तुष्टि का दिन है। दाम्पत्य जीवन में सुख-आनन्द होगा। मित्रों एवं प्रेम में वृद्धि की संभावना हैं। सौभाग्य, सुख व यश आज की विशेषता है। आर्थिक रुप से भी यह एक अच्छा समय है। पुराने दिए ऋणों, आर्थिक लक्ष्य प्राप्ति तथा कार्य में उन्नति भी हो सकती है। नये कार्य, परामर्श एवं यात्रा में सावधानी अपेक्षित है। विशेष रूप से पुरुषों के लिए।

सूर्य देव की प्रसन्नता के लिए उपाय या सूर्य कृत अशुभ दोष नाश के उपाय 

नक्षत्र  सुख बाधा  एवं नक्षत्र देवता की कृपा के उपाय :

वेद मंत्र उत्तर प्रोष्ठ :-
ॐ शिवोनाम असिस्वधितिस्तो पिता नमस्तेस्तुम आमाहि गवं सो निर्वत्त याम्यायुषेSत्राद्याय प्रजननायर रायपोषाय ( सुप्रजास्वाय )।
पौराणिक मंत्र :-
अहिर्मे बुध्नियो भूयात मुदे प्रोष्ठ पदेश्वरः।
शंख चक्र अंकीत करः किरीट उज्वल मौलिमान्।।
नक्षत्र देवता मंत्र :- ॐ अहिर्बुंधन्याय नमः।
नक्षत्र मंत्र :- ॐ उत्तर प्रोष्ठ पदभ्यां नमः।

(आज का राशिफल 21 सितम्बर 2021)

Related Articles