Trending

राशिफल सोमवार 1 नवम्बर 2021 : सुखी जीवन के लिए करें यह उपाय, क्या कहती हैं आपकी राशि, जानें अपना राशिफल

Whatsaap Strip

राशिफल सोमवार 1 नवम्बर 2021 एवं सुखी जीवन के लिए करें यह उपाय : दान, मन्त्र, वर्जित भोजन (उपाय, मन्त्र हिन्दू एवं जैन धर्म) : 01 नवम्बर 2021, कार्तिक कृष्ण पक्ष, वैदिक मास-उर्जा, शरद ऋतु, दक्षिणायन सूर्य। दिन- सोमवार। तिथि- द्वादशी। चन्द्र राशी –सिंह। व्रत- रमा एकादशी, गोवत्स द्वादशी, कार्तिक स्नान। पंचक-नहीं, भद्रा – नहीं। मूल – नहीं। कार्य विनाशक वैधृति यग-21:04तक। प्राकृतिक प्रकोप योग- 31 अक्टूबर से 30 नवम्बर तक तापमान में विगत 03 वर्षों की तुलना में माह में न्यूनता या गिरावट रहेगी। मंगल एवं शुक्र, गुरु की स्थिति के कारण विगत 05 वर्षों की तुलना में आगामी मार्च तक शीत/ठण्ड (अधिकता) प्रकोप (रोग) एवं जनधन की हानि के योग बनेगे।

“भविष्य-—11सितम्बर से मध्यनवम्बर तक  –“अ” “ल” “र” “क’ “स” “ग” अक्षर से प्रारंभव्यक्ति,वस्तु,स्थान,संस्थान,प्रदेश,देश के लिए उत्तरोत्तर-व्यस्तता, यात्रा, असुविधा, व्यय, कष्ट, आकस्मिक विपदा पूर्ण रहेगा”। मंगल ग्रह प्रभाव -31अक्टूबर को मंगल ग्रह स्वाति  नक्षत्र में प्रवेश करेगा – अग्नि, विस्फोटक, प्रयोग एवं दुर्घटना में वृद्धि प्रभाव होंगे।

यह भी पढ़ें : 1 नवंबर से बदल जाएंगे LPG, WhatsApp, पेंशनर्स से जुड़े कई नियम, आपकी जेब पर पड़ेगा असर

राशिफल सोमवार 1 नवम्बर 2021

मेष राशि (Aries) – चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ.

मनोबल  उत्तम रहेगा। राजनीति एवं जनसम्पर्क से लाभ सफलता मिलेगी। स्वास्थ्य बाधा का योग रहेगा। राजनीति में विरोधी पराजित होंगे। आपके कार्यों की प्रशंसा होगी। आपके द्वारा किये गए कार्य यश दिलवाएंगे। धन के क्षेत्र में अनुकूल स्थितियां बनेंगी।सफलता के योग अच्छे हैं।

वृष राशि (Taurus) – , , , , वा, वी, वू, वे, वो.

आज का दिन किसी भी प्रकार का जोखिम लेने के लिए उचित नहीं है। व्यवहार में अतिरिक्त कुशलता की आवश्यकता है।परिवार, मित्रों से तथा कार्यालय में अधिकारियों से मतभेद या विरोध की स्थिति बन सकती है। अनपेक्षित अपमान की स्थिति से बचना उचित होगा। प्रत्येक क्षेत्र अतिरिक्त प्रयास के उपरांत ही सफल हो सकता है।

मिथुन राशि (Gemini) – का, की, कू, , , , के, को, ह.

धैर्य, शांति, अल्पभाषी रहना सफलता का मूल मन्त्र एवं निर्णय स्थगित रखने उपयोगी है। आज के दिन अप्रिय स्थितियों की स्थिति रहेगी। प्रत्येक कार्य को सूझबूझ के बाद अथवा सोचने विचारने के उपरांत ही करना उचित होगा। आर्थिक सामाजिक एवं राजनीतिक तीनों स्तर पर मन के अनुकूल कार्य नहीं हो सकेंगे। धार्मिक आध्यात्मिक एवं दान आदि के कार्य में रुचि बढ़ सकती है। बाधाएं कम हो सकती हैं।

कर्क राशि (Cancer) – ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो.

यात्रा या महत्वपूर्ण कार्य लंबित रखना उत्तम होगा। पद प्रतिष्ठा का प्रयोग एवं सुख उपभोग होगा। परिवार के बड़ो या कार्यालय में उच्च अधिकारियों से पूर्ण कृपा प्राप्त होगी। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। मांगलिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी। प्रशंसा एवं ख्याति के सुयोग हैं। हाथ में लिए हुए कार्य पूर्ण होंगे। नेतृत्व क्षमता बढ़ेगी यश बढ़ेगा।

सिंह राशि (Leo) – मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे.

यात्रा एवं खर्च के अनायास योग बनेंगे। कार्य परिश्रम से ही पूर्ण होंगे। कार्यालय में कार्य की अधिकता रहेगी। कठिनाइयां बढ़ सकती हैं। स्वास्थ्य बाधा संभव है। राजनीति के क्षेत्र में कष्ट होगा। सामान्य तौर पर लोगों का व्यवहार सहयोगी या मित्रता पूर्ण नहीं रहेगा।

कन्या राशि (Virgo) – टो, , पी, पू, , , , पे, पो.

मन पसन्द इच्छित भोजन का आनन्द मिलने का योग है। आपको सुस्वादु मनचाहा भोजन, सुविधापूर्वक उपलब्ध होगा।आपको शारीरिक सुख-साधन, उत्तम वस्त्र व सुगंध तथा अन्य इच्छित सांसारिक भौतिक सुख की वस्तुओं से सुख योग है। इस समय सर्वोत्तम मित्र व परिचित मिलेंगे। पारिवारिक जीवन में आम दिनों की तुलना में अधिक आनन्द होगा। प्रेम या दाम्पत्य जीवन में आप अपने साथी के प्रेम में वृद्धि या सहयोग, समन्वय की आशा कर सकते हैं। सौभाग्य, सुख व सम्मान इस दिन की विशेषता है।

तुला राशि (Libra) – रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते.

शारीरिक रुप से आप स्वास्थ्य में गिरावट महसूस करेंगे। मानसिक रुप से असंतोष अनुभव करेंगे। आपको भोजन भी इतना रुचिकर नहीं लगेगा। दिन में असंतोष सा रहेगा। मन में उदारता एवं दया भावना की कमी होगी। अनपेक्षित स्थिति से क्रोध एवं विवाद की स्थिति बन सकती है। आकस्मिक अप्रिय स्थिति निर्मित होगी। महत्वपूर्ण कार्यों को टालना उचित होगा। खर्च बढ़ेगा। दैनिक कार्य सरलता से पूर्ण होंगे। सामान्यतः संमस्या नही आएगी।

वृश्चिक राशि (Scorpio) – तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू.

घर के लिए भी यह समय सुख से परिपूर्ण है। आपको रुचि पूर्ण उत्तम भोजन, वस्त्र सुख योग है। आपके सामने आने वाली हर परिस्थिति निराकृत होगी। आज सम्पन्न किया गया हर कार्य आपको प्रसन्नता देगा। मन में पूर्ण संतोष का साम्राज्य रहेगा। मित्र एवं परचितों  के साथ अच्छा समय व्यतीत होगा। विजय पथ के पथिक होंगे आप।

धनु राशि (Sagittarius) – ये, यो, , भी, भू, , , , भे.

अच्छे लोगों से परिचय होगा कार्यों में सफलता मिलेगी। पद प्रतिष्ठा के अच्छे अवसर हैं। विद्या के क्षेत्र में यश पड़ेगा सफलता मिलेगी। राजनीति में गौरव तथा यश बढ़ेगा मित्र वर्ग से पूर्ण सहयोग मिलेगा। शासन या राज्य मैं आपके कार्य प्रगति पर रहेंगे। सज्जन वर्ग से विशेष सहयोग मिलेगा व्यापार में प्रगति होगी। समय का भरपूर उपयोग करने का सुझाव दिया जाता है। स्त्री वर्ग विशेष, यात्रा एवं नए कार्य हाथ में नहीं ले।

मकर राशि (Capricorn) – भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, , गी.

अच्छे लोगों से परिचय होगा कार्यों में सफलता मिलेगी। पद प्रतिष्ठा के अच्छे अवसर हैं। विद्या के क्षेत्र में यश पड़ेगा सफलता मिलेगी। राजनीति में गौरव तथा यश बढ़ेगा मित्र वर्ग से पूर्ण सहयोग मिलेगा। शासन या राज्य मैं आपके कार्य प्रगति पर रहेंगे। सज्जन वर्ग से विशेष सहयोग मिलेगा व्यापार में प्रगति होगी। समय का भरपूर उपयोग करने का सुझाव दिया जाता है।

कुंभ राशि (Aquarius)– गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, द.

आपके कार्यों की सफलता संदिग्ध है। विरोध, मतभेद, विवाद की स्थिति बन सकती है। राजनीति में छल की संभावना है। विश्वास के परिणाम प्रतिकूल होंगे। दांपत्य साथी का स्वास्थ्य खराब हो सकता है। आवश्यक खर्चों में वृद्धि होगी।शारीरिक एवं मानसिक कष्ट की स्थिति से बचने के लिए, किसी भी कार्य को करने में शीघ्रता नहीं बरतें। बाजार के काम, परामर्श देना, यात्रा, नए कार्य प्रारंभ करना उचित नही होगा।

मीन राशि (Pisces) – दी, दू, , , , दे, दो, चा, ची.

दांपत्य जीवन के सुख में वृद्धि होगी। पुत्र एवं पुत्री के द्वारा पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा। कार्यालय में अनुकूल परिस्थितियां रहेंगे। व्यापार में लाभ की स्थिति रहेगी। नए कार्य या उत्तरदायित्व मिल सकते हैं। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। नए कार्य के श्री गणेश के लिए उत्तम अवसर है।

यह भी पढ़ें : प्रबुद्धजनों ने दिखाया सुखमय जीवन जीने का राह, सर्वधर्म समभाव सभा आयोजित

आज का वैदिक उपाय 

सफलता के लिए, नक्षत्र कृत अरिष्ट नाशक मंत्र : भग नामक सूर्यदेव की पुष्पादि से पूजा करने पर वे विजय, कन्या को अभीप्सित पति और पुरुष को अभीष्ट पत्नी प्रदान करते हैं तथा उन्हें रूप एवं द्रव्य-संपदा से संपन्न बनाते हैं। मंत्र : ॐ भगाय नाम: ॐ अर्यमणे नम:।अन्न दान करना चाहिए।

पौराणिक मंत्र:

संपूजयाम्य अर्पमणं फाल्गुनी तार देवताम्।
धुम्रवर्णं रथारुढं सुशक्तिकरसंयुतम्।।

नक्षत्र देवता मंत्र : ॐ अर्यम्ने नमः।

नक्षत्र मंत्र :ॐ उत्तरा फाल्गुनीभ्यां नमः।

आरोग्य सुख,सौभाग्य वृद्धि के लिए

  1.  स्नान जल मे नदी या तीर्थ जल, पंचगव्य, दूध सफेद चंदन, मिलाकर स्नान करे।
  2.  बाधा मुक्ति के लिए दान : चावल, श्वेत पुष्प। जल दान –किसी भी कन्या को या सफ़ेद गाय, शिव मंदिर में करे।
  3.  घर से प्रस्थान पूर्व खाएं : खीर या दूध चावल, दूध। 
  4.  दिन दोष उपाय– दर्पण (मिरर) मे मुह देख कर प्रस्थान करे। 

आज के देव एवं मंत्र : चंद्र देव एवं शिव की पूजा करे। ओम अमृत अंगाय विद्महे कलारूपाय धीमहि तन्नो सोमः प्रचोद्यात्। आपो ज्योति रस अमृतम। परो रजसे सावदोम।

जैन धर्म का मंत्र-

ऊँ नमोर्हते भवते श्रीमते चन्द्रप्रभु तीर्थंकराय विजय यक्ष ज्वाला-मालिनी यक्षी सहिताय ऊँ आं क्रौं ह्रीं ह्यः सोममहाग्रह! मम दुष्ट ग्रह रोग कष्ट निवारणं। सर्वशांतिं कुरू कुरू हूँ फट् स्वाहा। ॐ ह्रीं सोमग्रह अरिष्टनिवारक-श्री चन्द्रप्रभुजिनेन्द्राय नम:। सर्वशांतिं कुरुकुरु स्वाहा। मम (अपना नाम ) दुष्ट ग्रह रोग कष्ट निवारणं सर्वशांतिं कुरू कुरू हूँ फट् स्वाहा।

तिथि दोष उपाय

शिम्बी (सेम), मटर, चावल, परवल या चावल से बने कोई भी भोजन पदार्थ भोज्य पदार्थ वर्जित। चावल या चावल के व्यंजन उत्पाद का प्रयोग नहीं करे। जौ, भात भोजन में शामिल करे।

कार्य के पूर्व – विश्वेदेवों की भली प्रकार से पूजा करनी चाहिए। वे भक्त को संतानधन-धान्य और पृथ्वी प्रदान करते हैं। विश्वेदेवाय नम:। विष्णवे नम:। (कल्याणकारी, अहिंसित, अप्रतिरुद्ध और शत्रु नाशक समस्त यज्ञ चारों ओर से हमें प्राप्त हों अथवा हमारे पास आयें। जो हमें न छोड़कर प्रतिदिन हमारी रक्षा करते हैं, वे ही देवता सदा हमें वर्द्धित करें। [ऋग्वेद 1.89.1] अमर, अपराजित, वृद्धि से परिपूर्ण, कल्याणकारी वचन को हम ग्रहण करें जिससे विश्वेदेवा हमारी वृद्धि करते हुए रक्षक हों।) मेष, वृश्चिक राशी वाले बाधा नाश के लिए उपाय अवश्य करे।

(राशिफल सोमवार 1 नवम्बर 2021 एवं सुखी जीवन के लिए करें यह उपाय)

Related Articles