मोदी सरकार का बड़ा फैसला, बदला राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड का नाम

Whatsaap Strip

न्यूज़ डेस्क।

केंद्र सरकार ने राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार का नाम बदल दिया है। अब इस पुरस्कार को मेजर ध्यानचंद के नाम पर रखा गया है। मेजर ध्यानचंद भारतीय फील्ड हॉकी के सबसे व्यापक खिलाड़ी थे, जिन्हे खेल के इतिहास में सबसे महान में से एक माना जाता है। मेजर ध्यानचंद को हॉकी का जादूगर भी कहा जाता था।

टोक्यो ओलम्पिक में भारत ने रचा इतिहास, 41 साल बाद हॉकी में जीता मेडल

राजीव गांधी खेल पुरस्कार का नाम बदले जाने की जानकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद ट्विटर के माध्यम से दी है। उन्होंने बताया “मुझे पूरे भारत के नागरिकों से खेल रत्न पुरस्कार का नाम मेजर ध्यानचंद के नाम पर रखने के लिए कई अनुरोध प्राप्त हो रहे हैं। उनकी भावना का सम्मान करते हुए, खेल रत्न पुरस्कार को मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार कहा जाएगा: प्रधानमंत्री”

दूसरे ट्वीट में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि “मेजर ध्यानचंद भारत के उन अग्रणी खिलाड़ियों में से थे जिन्होंने भारत के लिए सम्मान और गौरव लाया। यह सही है कि हमारे देश का सर्वोच्च खेल सम्मान उन्हीं के नाम पर रखा जाएगा।

टोक्यो ओलंपिक 2021: ग्रेट ब्रिटेन से प्ले-ऑफ मैच हारा भारत

याद रहे कि राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड की शुरुआत 1991-92 में हुई थी। सबसे पहले यह अवार्ड शतरंज खिलाड़ी विश्नाथन आनंद और बिलियर्ड्स खिलाड़ी गीत सेठी को दिया गया था।

Related Articles