अगर आप भी इस्तेमाल करते हैं RuPay Credit Card तो पढ़ें खबर, अब UPI ट्रांजेक्शन पर नहीं देना होगा चार्ज

Whatsaap Strip

Rupay Credit Card : अगर आपके पास भी रुपे क्रेडिट कार्ड है तो यह खबर आपके लिए ही है। रुपे क्रेडिट कार्ड (Rupay Credit Card) धारकों के लिए अच्‍छी खबर है। अब उनको यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) के जरिए ट्रांजैक्‍शन पर कोई चार्ज नहीं देना होगा। इस संबंध में नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने मंगलवार 4 अक्टूबर को एक सर्कुलर जारी किया है।

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) के हाल में जारी एक सर्कुलर के अनुसार रुपे क्रेडिट कार्ड धारकों को यह छूट RBI के निर्देशों के अंतर्गत है। इस छूट के लिए ट्रांजैक्‍शन लिमिट 2,000 रुपये तक रखी गई है। पिछले चार साल से रुपे क्रेडिट कार्ड ऑपरेशनल हैं। सभी बड़े बैंक अपने कॉमर्शियल और रिटेल सेगमेंट्स में यह कार्ड जारी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें : T20 World Cup 2022 : ऑस्ट्रेलिया रवाना हुई टीम इंडिया, 16 अक्टूबर से होगा विश्वकप का आगाज

Rupay Credit Card : NPCI ने क्या कहा

NPCI ने अपने सर्कुलर में कहा है कि, ”सभी तरह के ट्रांजैक्‍शन पर क्रेडिट कार्ड को सक्षम करने के लिए एप पर क्रेडिट कार्ड ऑन-बोर्डिंग के दौरान, डिवाइस बाइंडिंग और UPI पिन सेटिंग प्रॉसेस को कस्‍टमर की मंजूरी माना जाएगा।” इंटरनेशनल ट्रांजैक्‍शन के लिए ऐप से मौजूदा प्रॉसेस क्रेडिट कॉर्ड पर भी लागू माना जाएगा।

Rupay Credit Card : मर्चेंट डिस्‍काउंट रेट

निल यानी जीरो मर्चेंट डिस्‍काउंट रेट (MDR) इस कैटेगरी के लिए 2000 रुपये तक या इससे कम के लेनदेन पर माना जाएगा। MDR दरअसल वह चार्ज होता है, जो एक व्यापारी किसी बैंक को अपने कस्‍टमर्स से क्रेडिट या डेबिट कार्ड के जरिए पेमेंट स्वीकार करने पर भुगतान करता है। MDR ट्रांजैक्‍शन अमाउंट के अनुमात में लगाया जाता है।

यह भी पढ़ें : Eknath Shinde : एकनाथ शिंदे ने उद्धव पर किया वार, दशहरे पर ठाकरे परिवार को किया अपने खेमे में शामिल

डेबिट कार्ड की तरह ही जोड़ें

Rupay क्रेडिट कार्ड को किसी भी यूपीआई पेमेंट ऐप से उसी तरह से जोड़ा जा सकेगा, जैसे डेबिट कार्ड को एड किया जाता है। मतलब इसमें भी यूपीआई पिन सेट करना होगा। जिसके बाद कार्ड के रूप में रुपे क्रेडिट कार्ड को इनेबल करना होगा। इस आसान प्रक्रिया को पूरा करते ही क्रेडिट कार्ड से यूपीआई ट्रांजैक्शन शुरू हो जाएगा और 2,000 रुपये तक के लेन-देन पर कोई चार्ज नहीं देना होगा।

आरबीआई डिप्टी गवर्नर ने कहा

सर्कुलर के अनुसार, क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता और ऐप इस तरह के लेन-देन के लिए क्रेडिट कार्ड होल्डर्स को नोटिफिकेशंस भेजेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, आरबीआई के डिप्टी गवर्नर टी रविशंकर ने पहले कहा था कि Credit Card को यूपीआई से जोड़ने का प्रमुख उद्देश्य कस्टमर्स को पेमेंट करने के व्यापक विकल्प उपलब्ध कराना है।

Related Articles