प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम बोले- महंगाई के बोझ से दब गया आम आदमी

Whatsaap Strip

रसोई में तड़का लगाना मुश्किल! महंगी सब्जी-तेल ने बिगाड़ा खाने का स्वाद

रायपुर: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम शुक्रवार सुबह सब्जी खरीदने निकले। सुरक्षाकर्मी भी उनके साथ थे और कांग्रेस के अन्य नेता भी। रायपुर के शास्त्री बाजार में दो झोले लेकर मरकाम पहुंचे। पहले 50 रुपए की बरबटी खरीदी, फिर टमाटर लेने के लिए आगे बढ़े। सब्जी वाले से पूछा 60 रुपए किलो टमाटर क्यों बेच रहे हो। मरकाम को जवाब मिला ट्रक का भाड़ा बढ़ गया है, थोक बाजार में ही हमें सब्जी महंगी मिल रही है तो क्या करें। आलू, प्याज, धनिया लेकर छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रमुख मरकाम ने 400 रुपए में दो झोले सब्जी ली।

इसे भी पढ़े:धन्वंतरी मेडिकल स्टोर्स की बढ़ रही लोकप्रियता : चितरंजन ने 350 रूपए की मल्टीविटामिन की दवा 100 रूपए में खरीदी….उन्होंने मुख्यमंत्री को धन्यवाद ज्ञापन सौंपा….

इसके बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि आम आदमी महंगाई के बोझ से दब गया है। यहां महंगाई से सब्जी खरीदने वाले भी परेशान हैं और बेचने वाले भी। हम इसी तरह महंगी सब्जियां खरीदकर अपना विरोध जता रहे हैं। इस महंगाई के लिए मरकाम ने केंद्र की मोदी सरकार को दोषी ठहराया । मरकाम ने आगे कहा कि केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा दिए। इसलिए सब्जियों के दाम बढ़ गए। पहले 10 रुपए की भाजी पूरा परिवार खाता था अब 20 रुपए में दो जोड़ी मिल रही है।

इसे भी पढ़े:राशिफल शनिवार 23 अक्टूबर 2021 : सुखी जीवन के लिए करें यह उपाय, क्या कहती हैं आपकी राशि, जानें अपना राशिफल

मरकाम ने कहा कि मोदी जब प्रधानमंत्री बने उसके कुछ दिनों बाद अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल के दामों में आई भारी गिरावट को मोदी जी अपने किस्मत का नतीजा बताते थे अब किसकी किस्मत खराब है? जो बिना कारण महंगाई की मार जनता को झेलना पड़ रही है? मोदी और भाजपा की कथनी और करनी में अंतर है। मोदी सरकार के बीते 7 साल के कार्यकाल में आम जनता रोजी मजदूरी करने वाले कामकाजी महिलाएं, छोटे फुटकर व्यवसायी प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले रिक्शा चालक, दिहाड़ी मजदूरों की आय घटी है, नौकरियां छूटी हैं।

Related Articles