स्वतंत्रता दिवस खास : जानें बरसों की गुलामी के बाद आखिर कैसे मिली भारत को आजादी

Whatsaap Strip

न्यूज़ डेस्क।

15 अगस्त का दिन पुरे भारत देश के लिए बहुत महत्वपूर्ण दिन हैं। अंग्रेजों की बरसों की गुलामी के बाद भारत देश को 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली थी। इस स्वतंत्रता प्राप्ति में कई वीर और वीरांगनाओं ने अपने प्राणों की आहूति दे दी। ब्रिटिश शासन के 200 साल की गुलामी से स्वतंत्रता पाना इतना भी आसान नहीं था।

लाल किले की प्राचीर पर पीएम मोदी ने आठवीं बार फहराया तिरंगा, देश को किया सम्बोधित

ऐसे हुई थी भारत की आजादी की शुरुआत

साल 1945 में दूसरे विश्व के ख़त्म होने के बाद तक अंग्रेज सरकार आर्थिक रूप से कमजोर हो चुकी थी। यहां तक कि उनके लिए इंग्लैंड में स्वयं का शासन चलाने में भी संघर्ष की स्थिति का सामना करना पड़ रहा था। ऐसे में भारत में शासन करने में उन्हें बहुत मुश्किलों का सामना करना पद रहा था।

सीएम भूपेश ने पुलिस परेड ग्राउंड में फहराया तिरंगा, प्रदेश में 4 नए जिलों के गठन की घोषणा

वहीं दूसरी ओर, सुभाष चन्द्र बोस और महात्मा गांधी जैसी शख्सियतों ने लोगों के मन में पूर्ण स्वराज्य की भावना का उदय कर दिया था और उनके लगातार प्रयासों ने ब्रिटिश हुकूमत की नाक में दम कर दिया था। जिसके बाद उनके पास भारत को छोड़कर जाने का कोई दूसरा रास्ता नहीं था।

स्वतंत्रता दिवस पर सीएम भूपेश का जनता के नाम संदेश, कहा- गांधीवादी सोच की परिकल्पना जल्द होगी साकार

शुरुआत में ब्रिटेन ने भारत को जून 1948 को आजादी देने का फैसला किया था। लेकिन जब फरवरी 1947 में लॉर्ड माउंटबेटन ने सत्ता प्राप्त की तो उन्होंने भारतीय नेताओं के बीच आम सहमति का क्रम बनाना शुरू कर दिया। लेकिन जिन्ना और नेहरू के बीच मतभेद के कारण उन्हें पहले ही भारत की स्वतंत्रता का दिन तय करना पड़ा।

16 अगस्त से बजेगा यूपी में चुनावी बिगुल, जोर-शोर से हो रही रैलियों की तैयारी

उन्होंने भारत की स्वतंत्रता के लिए 15 अगस्त का दिन तय किया क्योंकि इस दिन को वे अपने कार्यकाल के लिए बेहद लकी मानते थे। ऐसा इसलिए भी था, क्योंकि दूसरे विश्व युद्ध के दौरान 1945 में 15 अगस्त के ही दिन जापान की सेना ने उनकी अगुवाई में ब्रिटेन के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। इस तरह 15 अगस्त 1947 जापान के सरेंडर की दूसरी बरसी थी।

14 अगस्त 1947 : जानें किसने खीचीं देश के बीच ये लकीर, किस आधार पर अलग हुए भारत- पाकिस्तान

इन देशों में भी 15 अगस्त को मनाया जाता है स्वतंत्रता दिवस

वैसे 15 अगस्त का दिन सिर्फ भारत के लिए ही खास नहीं है, बल्कि 15 अगस्त की तारीख को दक्षिण कोरिया, बहरीन और कांगो देश में भी स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। हांलाकि दक्षिण कोरिया को साल 1945, बहरीन को 1971 और कांगो को 1960 में आजादी मिली थी।

Related Articles