शनिवार को कर लें बस ये 5 उपाय और फिर देखिये कैसे होती है शनिदेव की आप पर कृपा, रातोंरात बन जाएंगे धनवान!

Whatsaap Strip

रायपुर : आज शनिवार है और यह दिन शनिदेव को समर्पित माना जाता है,मान्यता है कि भगवान शनिदेव की पूजा-अर्चना से व्यक्ति का जीवन खुशहाल हो जाता है,शनिदेव को न्याय का देवता माना जाता है, जो व्यक्ति को उसके कर्मों के हिसाब से फल देते हैं, शनि जब किसी पर मेहरबान होते हैं

इसे भी पढ़े:रायपुर के मकान में लगी भीषण आग 2 किलोमीटर दूर से नजर आया धुएं का गुबार, 4 फायर ब्रिगेड मिलकर भी नहीं पा सके काबू

तो उसका पूरा जीवन बदल देते हैं,वो व्यक्ति शारीरिक, मानसिक और आर्थिक तीनों तरह से समृद्ध रहता है,लेकिन शनि जब किसी से रुष्ट होते हैं तो उसका जीना भी मुश्किल कर देते हैं, इसलिए शनि के नाम से ही लोग घबरा जाते हैं।

इसे भी पढ़े:युवा महोत्सव का शुभारंभ 20 नवंबर से होगा, 18 विधाओ में पहले विकासखंड स्तरीय पर होगा चयन, लोक मंच से जुड़े नाचा व गम्मत कार्यक्रमों का जिला स्तर पर होगा चयन, पढ़ें पूरी ख़बर

अगर आपकी कुंडली में भी शनि अशुभ स्थिति में विराजमान हैं, और आपको लगातार कष्ट दे रहे हैं या आप साढ़े साती और शनि की ढैय्या के कष्ट को झेल रहे हैं, तो शनिवार का दिन आपके लिए बहुत खास है. शनिवार के दिन कुछ उपाय करके आप शनिदेव को आसानी से प्रसन्न कर सकते हैं, साथ ही उनके द्वारा दिए जाने वाले कष्टों से मुक्ति पा सकते हैं। साथ ही धन संबन्धी समस्याओं से मुक्त हो सकते हैं, जानिए इन उपायों बारे में।

ये 5 उपाय दूर करेंगे शनिदेव की नाराजगी

1. शनिवार के दिन सूर्यास्त के बाद पीपल के पेड़ में दीपक जलाने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं,अगर पीपल का पेड़ किसी मंदिर में लगा हो, तो इसे और भी शुभ माना जाता है. ऐसा करने से आपके कई कष्ट दूर हो जाते हैं,आर्थिक रूप से विशेष लाभ मिलता है।

2. शनिदेव हनुमान जी को अपना सच्चा मित्र मानते हैं और उनकी पूजा करने वाले से अत्यंत प्रसन्न होते हैं, पौराणिक मान्यता के अनुसार शनिदेव ने हनुमान जी को वचन दिया था कि वे हनुमान जी के भक्तों को कभी नहीं सताएंगे,ऐसे में शनिदेव के कष्टों से मुक्त होने के लिए आप शनिवार के दिन हनुमानजी को चोला चढ़ाएं और हनुमान चालीसा का पाठ करें।

3. अगर आपके आसपास कोई शनि मंदिर है तो आप शनिवार के दिन शनिदेव की प्रतिमा पर नीले रंग का पुष्प चढ़ाएं और सरसों का तेल चढ़ाएं, इससे भी शनि प्रसन्न होते हैं,लेकिन कुछ भी अर्पित करते समय अपनी आंखों को नीचे झुकाकर रखें. शनिदेव से नजरें न मिलाएं क्योंकि उनकी दृष्टि वक्र मानी जाती है।

4. हर शनिवार को पीपल को जल चढ़ाकर सात बार उसकी परिक्रमा करें,पीपल में भगवान विष्णु का निवास माना जाता है, गीता में स्वयं श्रीकृष्ण ने कहा है कि वृक्षों में मैं पीपल हूं, शनिदेव को श्रीकृष्ण भगवान का अनन्य भक्त माना जाता है, इसलिए वे पीपल की पूजा करने वाले व्यक्ति से बहुत प्रसन्न होते हैं।

5. किसी जरूरतमंद व्यक्ति को शनिवार के दिन आप तेल दान करें. तेल दान करने से पहले उस तेल को एक बर्तन में लेकर उसमें अपना चेहरा देख लें, इससे शनि का प्रभाव कम हो जाता है, इसके अलावा शनिवार के दिन किसी जरूरतमंद को भोजन कराएं, वस्त्र, काली दाल, काले तिल, काले चने आदि कोई काले रंग की वस्तु देकर उसकी मदद करें. कुत्तों को सरसों का तेल लगी रोटी खिलाएं।

Related Articles