प्रभारी मंत्री ने जिला अस्पताल में किया ‘हमर लैब’ का शुभारंभ, जिलेवासियों को मिलेगा अब 114 प्रकार की जांच सुविधा

Whatsaap Strip

बलौदाबाजार : जिला अस्पताल बलौदाबाजार में ‘हमर लैब योजना’ का उच्च शिक्षा मंत्री एवं प्रभारी मंत्री उमेश पटेल ने शुभारंभ किया। हमर लैब में सुविधा बढ़ जाने से अब यहां 114 प्रकार के नमूनों की जांच कर बीमारी का पता लगाया जायेगा। इसके पहले केवल 60 प्रकार की जांच होती थी।

हमर लैब में उच्च स्तरीय सुविधा मिल जाने से यहां के लोगों को अब जांच के लिए बिलासपुर अथवा रायपुर की दौड़ लगाने की जरूरत नहीं होगी। प्रभारी मंत्री ने जिले के नागरिकों को इस सुविधा का अधिकाधिक लाभ उठाने की अपील की है।

प्रभारी मंत्री ने जिला अस्पताल में किया ‘हमर लैब’ का शुभारंभ, जिलेवासियों को मिलेगा अब 114 प्रकार की जांच सुविधा
हमर लैब बलौदाबाजार

इसे भी पढ़े:कार्तिक पूर्णिमा कल: मां लक्ष्मी को प्रसन्न करना है तो न करें ये गलतियां

इस अवसर पर संसदीय सचिव एवं विधायक शकुन्तला साहू, संसदीय सचिव एवं विधायक चन्द्रदेव राय, पाठ्यपुस्तक निगम के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी, जिला पंचायत अध्यक्ष राकेश कुमार वर्मा, पूर्व विधायक जनकराम वर्मा, जिला अध्यक्ष हितेन्द्र ठाकुर, कलेक्टर सुनील कुमार जैन, एसपी आई.के. एलिसेला सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि एवं अस्पताल के डॉक्टर एवं स्टाफ मौजूद थे।

इसे भी पढ़े:वनांचल से लेकर शहरों तक सशक्त बन रहीं महिलाएं

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. के. आर. सोनवानी एवं सिविल सर्जन डॉ. राजेश अवस्थी ने हमर लैब में मिलने वाली सुविधाओं के बारे में प्रभारी मंत्री एवं जनप्रतिनिधियों को अवगत कराया।

इसे भी पढ़े:महंगाई के मुद्दे पर कांग्रेसियों ने किया केंद्र की मोदी सरकार को बेनकाब

उन्होंने बताया कि हमर लैब में अब पैथोलॉजी, सीरोलॉजी, बायोकेमेस्ट्री, इम्यूनोलॉजी, हेमेटोलॉजी एवं माइक्रोबायलाजी से जुड़ी 114 प्रकार की जांच की सुविधा जिले के लोगों को मिलेगी। राज्य सरकार द्वारा यह महत्वपूर्ण सुविधा जिले के लोगों को प्रदान की गई है। हमर लैब में वे जांच सुविधा उपलब्ध हैं,

इसे भी पढ़े:कार्तिक पूर्णिमा 19 नवम्बर शुक्रवार : कार्तिक पूर्णिमा में हैं दान का विशेष महत्व, पढ़ें यह पौराणिक कथा

जो कि बड़े शहरों में होती हैं। शुगर हेतु एचबीएवनसी, किडनी हेतु इलेक्ट्रोलाईट, हार्ट से संबंधित ट्रोपीनिन ऑयन, रक्त की पीटीआईएनआर, बैक्टिरिया कल्चर एवं दवाई सेन्सिटिव्ह टेस्ट प्रमुख रूप से शामिल हैं।

इसे भी पढ़े:KBC में एक करोड़ जीतने वाले कंटेस्टेंट को क्यों नहीं मिलते पूरे पैसे? कट-पीटकर मिलती है इतनी रकम, जानिए वजह

 वर्तमान में लैब में एक एमडी पैथोलाजिस्ट सहित 21 टेक्निशियन एवं कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। हमर लेब के प्रभारी डॉ. अशोक वर्मा ने अंत में प्रभारी मंत्री उमेश पटेल सहित अतिथियों के प्रति आभार प्रकट किया

Related Articles