मोदी सरकार शिक्षा व्यवस्था को चौपट कर युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ कर रही: राहुल गांधी

Rahul on Modi Government: कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस को संबोधित किया। साथ ही कहा कि ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ के दौरान हजारों छात्रों ने पेपर लीक की शिकायत की थी। अब देश में NEET और UGC-NET के पेपर लीक हुए हैं। दावा किया जाता है कि नरेंद्र मोदी युद्ध रुकवा देते हैं, लेकिन वे पेपर लीक नहीं रुकवा पा रहे हैं या फिर वे पेपर लीक रोकना नहीं चाहते। मध्य प्रदेश में व्यापमं घोटाला हुआ, जिसे नरेंद्र मोदी पूरे देश में फैला रहे हैं। पेपर लीक का कारण है कि BJP ने पूरे सिस्टम को कैप्चर कर रखा है। जब तक ये कैप्चर रिवर्स नहीं होगा, पेपर लीक चलता रहेगा।

यह भी पढ़ें:- अमन और इंसानियत के दुश्मनों को जम्मू-कश्मीर की तरक्की पसंद नहीं: PM नरेंद्र मोदी

राहुल ने कहा कि पेपर लीक एक एंटी नेशनल गतिविधि है, क्योंकि इससे युवाओं को जबरदस्त चोट पहुंचती है। इसलिए पेपर लीक के जिम्मेदारों को पकड़ा जाना चाहिए और उनके ऊपर कार्रवाई होनी चाहिए। आज एक संगठन ने शिक्षा के सिस्टम को कैप्चर कर लिया है। वे हर पोस्ट पर अपने ही लोगों को बैठाते हैं। हमें इस सिस्टम को रिवर्स करना होगा। कांग्रेस ने अपने मैनिफेस्टो में लिखा था- पेपर लीक होने के बाद कार्रवाई करने के साथ ही, पेपर लीक रोकने के लिए सिस्टम को री-डिजाइन करना भी बेहद जरूरी है। विपक्ष दबाव डालकर, सरकार से ये दो काम कराने की कोशिश करेगा। (Rahul on Modi Government)

ईमानदारों को काम दोगे तो पेपर लीक नहीं होगा: राहुल गांधी

कांग्रेस सांसद ने कहा कि हिंदुस्तान में बहुत सारे ईमानदार लोग हैं। अगर आप ईमानदारों को काम दोगे तो पेपर लीक नहीं होगा, लेकिन अगर आप खुद की विचारधारा से जुड़े लोगों को काम सौपेंगे तो पेपर लीक होगा। मोदी सरकार कितनी भी क्लीन चिट दे, उनकी विश्वसनीयता ‘Zero’ है। सब लोग जानते हैं कि पेपर लीक का एपिसेंटर मध्य प्रदेश, गुजरात और उत्तर प्रदेश है। ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में सबसे ज्यादा पेपर लीक की बातें इन्हीं प्रदेशों में से सामने आईं थी। अगर मेरिट के आधार पर नौकरी नहीं दी जाएगी, असमर्थ लोगों को VC बनाया जाएगा और परीक्षा के ढांचे में अपनी विचारधारा के लोगों को डालेंगे तो पेपर लीक होगा। (Rahul on Modi Government)

मध्यप्रदेश और गुजरात BJP की प्रयोगशाला: राहुल 

राहुल गांधी ने कहा कि पेपर लीक का कारण है कि BJP के पैरेंट ऑर्गेनाइजेशन ने पूरे सिस्टम को कैप्चर कर रखा है। नतीजा- जो संस्थान पहले निष्पक्ष हुआ करते थे, आज एक विचारधारा के साथ चलने लगे हैं। इन संस्थानों में असमर्थ लोगों के बैठा दिया गया है। पूरा देश जनता है कि पेपर लीक का एपिसेंटर पहले मध्य प्रदेश था, जहां 40-50 लोगों की हत्या हुई थी। BJP कहती है कि मध्यप्रदेश और गुजरात हमारी प्रयोगशाला है। पेपर लीक भी वहीं से शुरू हुआ है और अब पूरे देश में फैल रहा है। जब तक हिंदुस्तान के संस्थानों को BJP के हाथों से छीनकर ईमानदार और निष्पक्ष लोगों को नहीं दिया जाएगा, पेपर लीक होते रहेंगे। (Rahul on Modi Government)

युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ कर रही सरकार: राहुल गांधी

उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी का कॉन्सेप्ट था- हजारों करोड़ रुपए की मार्केटिंग और डर। एजेंसी का डर, मीडिया का डर, सरकार का डर। उनके काम करने का तरीका लोगों को डराने-धमकाने का है, लेकिन अब उनसे कोई नहीं डरता। आपने देखा होगा बनारस में किसी ने उन्हें चप्पल मार दी थी। नरेंद्र मोदी की 56 इंच की छाती अब 30-32 इंच की हो गई है। हिंदुस्तान में लगातार पेपर लीक हो रहे हैं और नरेंद्र मोदी या तो उसे रोक नहीं पा रहे या रोकना ही नहीं चाहते। भाजपा शासित राज्य पेपर लीक का एपिसेंटर और शिक्षा माफियाओं की लैबोरेटरी बन गए हैं। भाजपा सरकार शिक्षा व्यवस्था को चौपट कर युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ कर रही है। INDIA ऐसा कभी नहीं होने देगा। (Rahul on Modi Government)

Back to top button